Vertigo tablet in hindi: सिर के चक्कर से छुटकारा पाने की असरदार दवाई

Vertigo tablet in hindi: यदि आप सिर में चक्कर रहने की समस्या से जूझ रहे हैं और जानना चाहते हैं कि इस परेशानी को दूर करने के लिए कौन सी दवाई लेनी चाहिए। तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं।

क्योंकि आज हम vertigo tablet के बारे में बात करेंगे इस दवाई के क्या फायदे, नुकसान, खुराक और उपयोग क्या हो सकते हैं।

Two hands holding vertigo tablet
Vertigo tablet in hindi

इसी के साथ यह भी समझेंगे कि यह दवाई किसे नहीं खानी चाहिए इसे लेने के दौरान क्या सावधानियां बरतें।

Table of Contents

vertigo (वर्टिगो) क्या है?

vertigo tablet के बारे में जानकारी लेने से पहले वर्टिगो को समझ लेते हैं। तो वर्टिगो का सामान्य मतलब होता है सिर का चक्कर, अर्थात किसी कारण से सिर में चक्कर महसूस होना।

वर्टिगो या सिर का चक्कर आने की स्थिति का सही तरीके से इलाज करने के लिए उसका वास्तविक कारण जानना बहुत महत्वपूर्ण है।

Vertigo(चक्कर) के प्रकार:

1.परिधीय, 2.मध्य, 3.BPPV,

वर्टिगो के मुख्य लक्षण यह हैं –

  • चक्कर आना।
  • सिर घूमना महसूस होना।
  • जी खराब होना।
  • पसीना आना।
  • असंतुलित महसूस करना।
  • बार-बार गिरना।
  • सिर में दर्द रहना।

Vertigo tablet क्या है?

Vertigo tablet चक्कर की समस्या से निजात दिलाने के साथ उल्टी रोकने में भी मदद करती है।

इसीलिए सफर में इन लक्षणों को रोकने के लिए इसी दवाई का उपयोग किया जाता है।

यह टेबलेट 25mg,75mg, की क्षमता में उपलब्ध हैं जिसके एक पैकेट में 10 टेबलेट आती हैं।

vertigo tablet एंटी-हिस्टामाइन दवाओं का एक प्रकार होता है जो कि नशीली दवा में गिनी जाती हैं। डॉक्टर इन दवाइयों को बीमारियों के लक्षणों से बचाव के लिए खाना बताते हैं।

>>>और पढ़े– सिट्रिज दवाई की जानकारी: प्रभाव,फायदे और नुकसान।

वर्टिगो टैबलेट की सामग्री – Vertigo tablet ingredient in hindi.

cinnarizine इस दवाई में मूल्य रूप से प्रयोग किया जाने वाला पदार्थ है।

Vertigo tablet का प्रभाव कितनी देर तक रहता है?

अधिकतर देखा गया है कि वर्टिगो टेबलेट की एक खुराक लेने से इसका प्रभाव 1 घंटे के लगभग शुरू हो जाता है और 8 घंटे यह असर बना रहता है।

किन बीमारियों में उपयोग की जाए vertigo tablet:

✓ बीमारियों के लक्षणों से बचाव के लिए।

✓ सफर में अस्थिरता को रोकने के लिए।

✓ समस्याओं की रोकथाम और सुधार के लिए।

✓ आधे सिर में दर्द की पीड़ा से निजात के लिए।

✓ उल्टी के प्रबंधन के लिए।

✓ कानों में दर्द हो तो।

वेर्टिगोन टैबलेट का इस्तेमाल कैसे करें – Vertigo tablet uses in hindi

वर्टिगो टेबलेट खाने के बाद ली जाने वाली दवाई है इसका सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए। इस दवाई को चबाना नहीं है पानी के साथ साबुत निगल लें।

Taking Vertigo tablet in hand for eating with one glass water
Vertigo tablet in hindi

वर्टिगो टैबलेट की सही मात्रा और अवधि आपकी चिकित्सा स्थिति पर निर्भर करती है।

जिसकी जानकारी आपके डॉक्टर को होती है तो डॉक्टर आपकी उम्र और स्वास्थ्य स्थिति के आधार पर दवाई का नुस्खा बताते हैं।

जिन लोगों को चक्कर आने की समस्या अधिक रहती है तो डॉक्टरों द्वारा उन्हें हर रोज तीन बार इस दवाई को लेना बताया जाता है क्योंकि इस दवा का असर 8 घंटे तक ही रहता है।

आपको यह दवाई कितनी मात्रा में और कितने समय तक खाने हैं इसकी जानकारी अपने डॉक्टर से लें।

लंबी अवधि और अधिक मात्रा के कारण इसके साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं इसलिए डॉक्टर के अनुसार ही vertigo tablet का इस्तेमाल करें।

ध्यान रहे यह दवाई अन्य दवाइयों के साथ इंस्ट्रक्शन कर सकती है तो अगर आप किसी दवाई का सेवन कर रहे हैं तो उसकी जानकारी डॉक्टर से सांझा जरूर करें।

अगर वेर्टिगो टैबलेट लेना भूल जाएं तो – What if miss dose of vertigo tablet?

देखिए अगर आप वर्टिगो टैबलेट को सही समय पर लेना भूल जाते हैं और अभी ज्यादा समय नहीं गुजरा तो दवा ई का लें।

लेकिन अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है तो पहली खुराक ना लें उसे छोड़ दीजिए और अपनी दूसरी खुराक का सेवन करें।

क्योंकि अगर आप पहली खुराक लेकर दूसरी खुराक लेंगे, तो डबल डोज हो जाएगी जिसका प्रभाव नकारात्मक देखने को मिल सकता है। तो ऐसा नहीं करना है।

डबल डोज या अधिक मात्रा में सेवन करने से बचें।

Vertigo tablet नशीली दवाइयों का एक रूप है अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो खतरनाक असर देखने को मिल सकता है आपकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब हो सकती है।

अगर किसी कारणवश आपने डबल डोज ले लिया है तो तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह करें।

या किसी आस पास के अस्पताल में जाकर अपनी जांच कराएं और चिकित्सक के बताएं अनुसान प्रबंधन करें व अपनी सुरक्षा को सुनिश्चित करें।

वर्टिगो टेबलेट किसे नहीं लेनी चाहिए – Who should not take Vertigo tablet?

वर्टिगो टैबलेट का इस्तेमाल उन लोगों को नहीं करना चाहिए जो लोग किसी एलर्जी से ग्रस्त हैं।

मानसिक समस्या से जूझ रहे लोगों को भी इस दवाई का इस्तेमाल डॉक्टर के अनुसार ही करना चाहिए।

इसके अलावा बच्चों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए जब तक डॉक्टर निर्देशित ना करें क्योंकि इसके प्रभाव बहुत बुरे हो सकते हैं।

प्रेग्नेंट महिला और दूध पिलाने वाली मां को भी इस दवाई का सेवन करने से बचना चाहिए यदि जरूरत हो तो डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करें।

वर्टिगो टेबलेट के फायदे – Vertigo tablet benefits in hindi

#1. इस दवाई के सेवन से चक्कर की समस्या दूर हो जाती है।

#2. कान से संबंधित परेशानियों को कम करने में प्रभावी है।

#3. Vertigo tablet सिर दर्द से छुटकारा दिलाने में सहायक है।

#4. यह दवाई 1 घंटे में असर करना शुरू कर देती है।

#5. एक खुराक का असर 8 घंटे तक रहता है।

#6. उल्टी को रोकने में मददगार है।

#7. वर्टिगो टैबलेट सफर के लिए अच्छा विकल्प है।

#8. रक्त प्रवाह को बेहतर बनाती है।

#9. मानसिक दबाव काम करती हैं।

#10. बीमारी के लक्षणों से बचाव होता है।

उपरोक्त सभी फायदे तभी मिलते हैं जब आप डॉक्टर के बताए अनुसार सुरक्षित रूप में vertigo tablet का इस्तेमाल करें।

वर्टिगो टेबलेट के नुकसान (साइड इफेक्ट) – Vertigo tablet side effects in hindi.

A woman feel unwell to dizziness and hold vertigo tablet in hand for eating
Vertigo tablet in hindi

वर्टिगो टेबलेट के उपयोग के दौरान निम्नलिखित साइड इफेक्ट हो सकते हैं–

#1. सिर में दर्द – इस दवाई के सेवन से सिर दर्द की शिकायत हो सकती है।

#2. पसीना आना – बार-बार पसीना आना भी वर्टिगो टैबलेट का दुष्प्रभाव हो सकता है।

#3. सुस्ती बनी रहना – वर्टिगो टेबलेट उपयोग करने के दौरान सुस्ती हो सकती है।

#4. त्वचा एलर्जी – इस टेबलेट का लंबे समय तक नियमित रूप से उपयोग करते रहने से स्किन एलर्जी की समस्या हो सकती है।

#5. शक्तिहीनता का अनुभव – दवाई के सेवन से शरीर में ऊर्जा की कमी महसूस होती है व्यक्ति खुद को कमजोर महसूस करता है।

#6. मांसपेशियों में दर्द – वर्टिगो टैबलेट के उपयोग से मांसपेशियों में रहने की शिकायत हो सकती है।

#7. थकान – जो लोग वर्टिगो टैबलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें थकान होना सामान्य है क्योंकि इस टैबलेट के उपयोग से थकान महसूस होती हैं।

#8. मुंह सूखना – वर्टिगो टैबलेट खाने के दौरान मुंह सुखा रहना भी एक साइड इफेक्ट होता है।

#9. शरीर में कंपन रहना – कुछ लोगों को इस दवाई का सेवन करते रहने से शरीर में कंपन होने कि समस्या देखी जा सकती है।

वर्टिगो की ओवरडोज होने पर दुष्प्रभाव –

#10.बार बार उल्टी होना – वर्टिगो टेबलेट इस्तेमाल से बार बार उल्टी होने की शिकायत हो सकती है यदि आपको इस तरह का नुकसान देखने को मिलता है तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

#11. नींद में कमी – वर्टिगो की अधिक मात्रा के कारण नींद में गड़बड़ी हो जाती है या तो नींद बहुत ज्यादा आने लगती है या नींद बिलकुल नहीं आती तो ऐसे में भी डॉक्टर से परामर्श करें और अपना इलाज करें।

#12. घुटन महसूस होना – अधिक मात्रा में वर्टिगो टेबलेट का इस्तेमाल करने के कारण व्यक्ति घबराहट और घुटन फील कर सकता है जिससे निजात पाने के लिए डॉक्टर को इन प्रभावों की जानकारी दें।

#13. हाइपोटोनिया – vertigo tablet का सेवन करते रहने से हाइपोटोनिया का रोग हो सकता है जो गंभीर स्वास्थ्य रोग हैं।

#14. डिप्रेशन – अधिक मात्रा में इस दवाई का सेवन करने से डिप्रेशन जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

#15. लीवर या का खराब होना – इस दवाई को ज्यादा उपयोग करने से लिवर खराब होने की संभावना होती है।

#16. पार्किंसंस रोग या रक्त विकार – यह बीमारी प्रेग्नेंट महिला स्तनपान कराने वाली महिला या गुर्दे की बीमारी से ग्रसित लोगों को हो सकता है।

जिसका मुख्य कारण वर्टिगो टैबलेट का अधिक मात्रा में सेवन हो सकता है।

#17. कोमा – वर्टिगो टेबलेट की अधिक मात्रा का सेवन करने व्यक्ति कोमा में जा सकता है।

>>>और पढ़े – Health up capsules: क्या हेल्थ अप कैप्सूल सुरक्षित और अच्छे हैं।

वर्टिगो टेबलेट इंट्रैक्शन – Vertigo tablet intrection in hindi

जब भी आप वर्टिगो टेबलेट्स का इस्तेमाल करना चाहें तो डॉक्टर से अपनी चिकित्सा सम्बन्धी जानकारी और जो दवाई खा रहे हैं के बारे में जानकारी साझा अवश्य करें।

क्योंकि वर्टिगो टैबलेट एक नशीली दवाई होती है जो दूसरी दवाइयों के साथ या बीमारियों में इंटरेक्शन कर सकती है।

चिकित्सक के सलाह के बिना किसी भी प्रकार की दवाई का सेवन करना खतरनाक हो सकता है इसीलिए डॉक्टर से सुनिश्चित करके ही दवाई का सेवन करें।

Vertigo tablet का दवाओं के साथ इंटरैक्शन:

इन दवाओं के साथ vertigo tablet intrection कर सकती है:

• च्लोरप्रोमाजिन (Chlorpromazine).

• अमिट्रिप्टीलिन (Amitriptyline).

• डेज़िपाम (Diazepam).

• ट्रामाडोल (Tramadol)

यदि आप इनमें से किसी दवाई का सेवन कर रहे हैं या किसी अन्य दवाई का सेवन करते हैं तो इसकी जानकारी डॉक्टर को बताएं।

ताकि डॉक्टर आपको दवाई को लेने का तरीका और वर्टिगो टैबलेट के साथ कितनी मात्रा में उस दवाई का सेवन करना है इसकी सही जानकारी दें।

Vertigo tablet का रोगों के साथ इंटरैक्शन:

• पार्किंसंस रोग (Parkinson’s Disease)

पार्किंसंस बीमारी से ग्रसित लोगों को इस दवा का इस्तेमाल तभी करना चाहिए जब उन्हें डॉक्टर द्वारा बताया जाए।

जब संभावित फायदे मिले और जोखिमों की संभावना कम हो केवल ऐसी स्थिति में ही वर्टिगो टैबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है।

• पोरफाइरिया (Porphyria)

पोरफाइरिया (Porphyria) के रोग में इस दवाई का उपयोग करना सुरक्षित नहीं है इसके विपरीत प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।

तो यदि आपको ऐसे में दवाई खानी है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

वर्टिगो टेबलेट कहां से खरीदें – where to buy vertigo tablet in hindi

यह दवाई आपको किसी भी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है तो आप अपने आसपास की फार्मेसी से इसे खरीद सकते हैं।

यदि आप इसे ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं तो आपको यह ऑनलाइन भी आसानी से मिल जाएगी जिसे आप किसी भी ऑनलाइन साइट से ले सकते हैं।

वर्टिगो टेबलेट की कीमत – Vertigo tablet price in hindi

इस दवाई की कीमत हर जगह अलग-अलग हो सकती है लेकिन यह दवाई आपको 25 ग्राम 10 गोलियां 40 से ₹50 में मिल जाएंगी।

वर्टिगो टेबलेट की सावधानियां –Precautions for vertigo tablet in hindi

  • अगर आपका पेट खराब है और आप उस स्थिति से बचने के लिए इस दवाई का इस्तेमाल कर रहे हैं तो खाने के बाद ही उसका इस्तेमाल करें।
  • दवा के साथ शराब का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए।
  • त्वचा एलर्जी वाले लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको इसके सेवन से कोई नुकसान देखने को मिलता है तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।
  • वर्टिगो टैबलेट का सेवन करने के बाद गाड़ी नहीं चलाना चाहिए।
  • गर्भवती महिला को इसका सेवन करने से बचना चाहिए यदि जरूरत हो तो डॉक्टर से सलाह लेकर उपयोग करें।
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी इस दवा को सेवन नहीं करना चाहिए।
  • 5 साल से कम उम्र के बच्चों को इसका सेवन नहीं कराना चाहिए।
  • वर्टिगो टैबलेट के पैकेट पर लिखे निर्देशों को ध्यान से पढ़ें।
  • बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
  • ठंडी और सुखी जगह पर स्टोर करें।
  • बिना डॉक्टर की सलाह के वर्टिगो टैबलेट लेना बंद नहीं करना चाहिए पहले डॉक्टर से कंसल्ट करें।
  • दवाई के अलावा घरेलू प्रबंधन भी करें।
  • घर पर कुछ समय योगा करने की आदत बनाएं इससे भी चक्कर आने की समस्या दूर होगी।

Vertigo tablet से संबंधित अन्य सवाल

1.क्या Vertigon आदत या लत बन सकती है?

वर्टिगो टेबलेट की आदत बन सकती है या नहीं इसका कोई प्रमाण नहीं है लेकिन कोई भी दवा अलग-अलग प्रभाव दिखा सकती है इसीलिए डॉक्टर की सलाह पर ही उपयोग करें।

2. क्या ह्रदय पर Vertigon का प्रभाव पड़ता है?

वर्टिगो टेबलेट हृदय के लिए सही है इसके उपयोग से दिल पर कोई विशेष साइड इफेक्ट्स का प्रभाव नहीं होता।

3. क्या किडनी की बीमारी में वेर्टिगो टैबलेट सुरक्षित है?

किडनी की समस्या होने पर वर्टिगो टेबलेट का उपयोग करने से स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव पड़ सकता है इसीलिए किडनी से संबंधित बीमारी होने पर डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करें।

4. क्या वर्टिगो टैबलेट लिवर की बीमारी में सुरक्षित है?

यदि आपको लीवर से संबंधित कोई बीमारी है तो ऐसी स्थिति में भी इस दवाई का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें अन्यथा हानि का सामना करना पड़ सकता है।

5. क्या वेर्टिगो टैबलेट का उपयोग करते समय शराब का सेवन करना सुरक्षित है असुरक्षित?

वर्टिगो टेबलेट के क्या शराब का सेवन करने से मानसिक स्वास्थ्य खराब होने की संभावना रहती है तो यह दवाई शराब के साथ लेना सुरक्षित नहीं है।

6. क्या गर्भावस्था के दौरान वेर्टिगो टैबलेट का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान अगर आप इस सवाल का जवाब करना चाहती हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें और उनकी सलाह पर ही इस दवाई का सेवन करें बिना डॉक्टर के बताए यह दवाई लेना असुरक्षित है।

रिसर्च के अनुसार की दवाई शिशु के स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डाल सकती है ।

इसीलिए डॉक्टर आप की जांच कर के संभावित लाभ और हानि की तुलना करेंगे और तभी आप को इस सवाल का सेवन करने के बारे में बताएंगे।

7. स्तनपान के दौरान वेर्टिगोन टैबलेट का इस्तेमाल सुरक्षित है?

स्तनपान कराने वाली महिला को वर्टिगो टेबलेट के बारे में डॉक्टर से जानकारी लेनी चाहिए और उनकी सलाह पर ही इस दवा का प्रयोग करना चाहिए।

8. क्या वेर्टिगोन टैबलेट का इस्तेमाल करते समय गाड़ी चलाना सुरक्षित है?

नहीं गाड़ी चलाते समय टेबलेट का दिमाग नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके इस्तेमाल से चक्कर और नींद आ सकती है जो बहुत खतरनाक हो सकता है।

9. क्या वर्टिगो स्ट्रोक का कारण बन सकता है?

वर्टिगो टेबलेट से इस जोक आने के लक्षण और संभावनाओं के बारे में जानकारी नहीं है इसके लिए कृपया डॉक्टर से जानकारी लें।

Vertigon के सारे विकल्प देखें – Substitutes for Vertigon in hindi

• ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड (Glenmark Pharmaceuticals)

• सिंज़ेन टेबलेट (Cinzan 25 DT Tablet)

• वर्टिसिन टेबलेट (Verticin Tablet)

• स्टुजिरोन टेबलेट (Stugeron Tablet)

• डिजी टेबलेट (Dizi 75 Table)

• वर्टिगोन टेबलेट (Vertigon Tablet)

• ज़ाइन 50 टेबलेट (Zine 50 Tablet)

• वोकहार्ट लिमिटेड (Wockhardt Ltd)

• क्वर्टो टेबलेट (Kvert Tablet)

• सिनी टेबलेट (Cinn tablet)

• सिंवॉक्स 25 एमजी टैबलेट (Cinwox Tablet)

• इंटस फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड (Intas Pharmaceuticals Ltd)

• डिज़ीरोन 25 एमजी टैबलेट (Diziron Tablet)

• Dizzigo गोली (Dizzigo Tablet)

• वेरतीरों टैबलेट (Vertiron Tablet)

• स्टुगेरोन टैबलेट (Stugeron Tablet)

• जानसेन (Janssen)

• सिप्ला लिमिटेड (Cipla Ltd)

Saniya Qureshi is a Health and Beauty writer, senior consultant and health educator with over 5 years of experience.

Leave a Reply