Mchc Blood Test Kya Hota Hai In Hindi | एमसीएचसी ब्लड टेस्ट के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

Mchc test शरीर में खून की जांच के लिए किया जाता है यह टेस्ट एनीमिया की होने की संभावना को जानने और एनीमिया को ठीक करने के लिए मुख्य तौर पर करते हैं।

यह एक तरह का कल्टीवेटेड टेस्ट है इसमें CBC Profile को जांचा जाता है।

Mchc blood test
Mchc blood test in hindi

इस टेस्ट के माध्यम से ब्लड कोशिकाओं में हिमोग्लोबिन के औसत माप की जानकारी ली जाती है।

Mchc टेस्ट कब किया जाता है।

एमसीएचसी टेस्ट मरीज़ के हिमोग्लोबिन और पीसीबी की वैल्यू का पता करने के लिए किया जाता है।

यह जरूर पढ़ें | Blood purifier सिरप का उपयोग करने से क्या लाभ हैं।

Mchc क्या होता है?

पहले इस का फुल फॉर्म जानते हैं। क्या है इसका मतलब नीचे देखें।

M – Mean.

C – Corpuscular.

H – Hemoglobin.

C – Concentration.

इन 4 शब्दों को जोड़कर एमसीएचसी का पूरा मतलब बनता है जो हमें बताता है कि इसका मतलब है मीन कॉरपस्कुलर हीमोग्लोबिन कंसंट्रेशन।

यानी यह टेस्ट हमारे शरीर के हिमोग्लोबिन का टेस्ट करने का एक तरीका है।

Mchc परिक्षण क्या है?

इस test के माध्यम से शरीर में विभिन्न प्रकार की एनीमिया की कमी के बारे में जाना जाता है यह शरीर के हीमोग्लोबिन की जांच के द्वारा होता है।

विभिन्न प्रकार की एनीमिया की जानकारी इस टेस्ट के माध्यम से आसानी से निकाली जा सकती है।

एमसीएचसी (Mchc) का उद्देश्य?

एमसीएचसी का टेस्ट क्यों किया जाता है आपको बता दें कि यह टेस्ट शरीर में एनीमिया है या नहीं है इस बारे में जानकारी के लिए किया जाता है।

एनीमिया का मतलब होता है शरीर में खून की कमी इस कंडीशन में शरीर की लाल रक्त कोशिकाएं ऑक्सीजन को शरीर के टिशू तक ठीक से नहीं पहुंचा पाती।

Mchc low symptoms in hindi (एमसीएचसी कम होने के लक्षण)

Mchc blood test signs
Mchc blood test in hindi

• शरीर थका हुआ महसूस करता है।

• शरीर में कमजोरी महसूस होती।

• चक्कर आने की समस्या हो सकती।

• सिर दर्द महसूस होता है।

• आसानी से चोट लग जाना।

• स्किन पीली पड़ जाती है।

एमसीएचसी (Mchc) का मतलब ब्लड टेस्ट में क्या होता है?

इसका मतलब होता है माध्य कनिका हीमोग्लोबिन संजीता अर्थात एमसीएचसी यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन का माप होता है।

MCHC का क्या कारण है?

शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी।

MCHC कम होने के कारण।

अगर शरीर में एमसीएचसी 32 से कम है तो इसका मतलब है कि शरीर में एमसीएचसी की कमी है।

आपके शरीर में एमसीएचसी कम होने के यह कारण हो सकते हैं।

>> भोजन में न्यूट्रिशंस की कमी।

>> ज्यादा फास्ट फूड का सेवन।

>> शरीर में खून की कमी।

>> शरीर जल्दी थक जाता है।

>> सांस फूलना।

>> स्टैमिना की कमी।

सामान्य Mchc कितना होना चाहिए?

अगर हम बात करें कि एमसीएचसी की सही मात्रा कितनी होनी चाहिए जिससे शरीर स्वस्थ रहे हैं तो इसकी मात्रा 32 से 36 g/dl के बीच में रहनी चाहिए।

यह जरूर पढ़ें | डॉक्टर बिस्वास गुड हेल्थ कैप्सूल के स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव क्या होते हैं।

Mchc अधिक होने से क्या होता है।

यदि शरीर में MCHC ज्यादा है तो इसका परिणाम मानव शरीर के लिए खतरनाक हो सकता है।

क्योंकि एमसीएचसी के बढ़ने से शरीर में कई सारी बीमारियां होने का जोखिम बढ़ जाता है।

# शरीर जल्दी से थकान महसूस करने लगता है।

# शरीर के साथ दिमाग पर भी इसका असर होता है दिमाग की कार्य क्षमता भी धीमी होने लगती है।

# चक्कर आने की समस्या होने लगती हैं।

# बीमारियां ठीक होने में समस्याएं आती हैं।

Mchc कम होने से क्या होता है –MCHC blood test low in Hindi

यदि आपके शरीर में एमसीएचसी का लेवल कम है तो निम्न समस्याएं हो सकती हैं।

• शरीर में खून की कमी हो जाती है।

• त्वचा पीला पड़ने लगती है।

• शारीरिक भार कम हो जाता है।

• सांस लेने में प्रॉब्लम हो सकती है।

• कमजोरी रहती है।

31.5 के एमसीएचसी का क्या मतलब है?

यदि शरीर में 31.5 MCHC का लेवल है तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में यह नॉर्मल स्टेज पर है।

यह जरूर पढ़ें | अच्छी सेहत से होते हैं यह शानदार फायदे बढ़ती है उम्र

MCHC blood test high in Hindi (एमसीएचसी ब्लड लेवल बढ़ने से क्या होता है)

अगर शरीर में एमसीएचसी का लेवल बढ़ जाता है तो इसका मतलब होता है कि आपके शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के अंदर हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ गई है।

इसके बढ़ने के यह कारण हो सकते हैं।

~ ब्लड सेल्स बड़े हो जाना।

~ शरीर में विटामिन b12 और फोलिक एसिड की कमी।

MCHC blood test normal range in Hindi (एमसीएचसी रक्त टेस्ट नॉरमल रेंज)

शरीर में नार्मल एमसीएचसी की मात्रा 33.4 से 35.5 ग्राम पर देसी लिटर होना चाहिए।

अगर आपके शरीर में MCHC 33.4 से 35.5 के बीच है तो इसका मतलब है कि यह बिल्कुल सही मात्रा है।

5 पॉइंट 5 से अधिक एमसीएचसी की मात्रा आपके हिमोग्लोबिन में हो जाती है तो इसका मतलब है कि इसकी मात्रा बढ़ गई है जो स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है।

साथ ही अगर 33.4 से कम एमसीएचसी की मात्रा है तो उसका अर्थ है कि आपके शरीर में पीले लाल रक्त कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम है।

MCHC से बचने के लिए उपाय।

अगर आप MCHC से बचना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए।

अपने शरीर को स्वस्थ रखें एनीमिया ना होने दें अर्थात शरीर में खून की कमी से बचें।

इसके लिए इन चीजों का सेवन करने की आदत बनाएं।

• पालक।

• अनार।

• सोयाबीन।

• सेब।

• अंडे।

• मछली और चिकन।

• केले।

• शकरकंदी।

• भिंडी।

• पपीता।

इसका मतलब है कि आपको अपनी डाइट में ऐसी चीजों को शामिल करना है जो शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाएं उसके लिए हरी सब्जियों और लाल व नारंगी रंग के फलों का सेवन सबसे अच्छा है।

इस तरह की डाइट शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरी करती है और लाल रक्त कोशिकाओं मैं हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने में मदद करती है।

यह जरूर पढ़ें | बिना दवाई खाएं खुद को हेल्दी कैसे रखें जिससे बीमारियों से बचे रहें।

रक्त रिपोर्ट में MCHC की गणना कैसे की जाती है?

Mchc blood test how to find out value
Mchc blood test in hindi

एमपीएससी की गणना हिमोग्लोबिन की संख्या को 100 से गुणा करके इसे हेमेटोक्रिट के परिणामों से विभाजित करके की जाती है।

हेमेटोक्रिट परिणाम का अर्थ है खून में मौजूद रेड ब्लड सेल्स की संख्या की रिपोर्ट।

MCHC टेस्ट किसे लेना चाहिए?

एमसीएससी का टेस्ट उन लोगों को लेना चाहिए जिनके शरीर में आयरन की कमी हो और जिन्हें एनीमिया की समस्या हो उन्हें यह टेस्ट जरूर कराना चाहिए।

इन स्थितियों में आपके शरीर में खून की कमी हो सकती है जिससे से आपको जल्दी थकान महसूस होती है चक्कर आते हैैं सांस फूलने लगती है।

जिन लोगों को स्पैरो साइटोसिस और हायपर थायराइड है उन्हें भी यह टेस्ट करवाना चाहिए। क्योंकि उनके शरीर में एमसीएचसी का कुछ लेवल होने की संभावना रहती है।

एमसीएचसी टेस्ट कितनी कीमत में होता है- Rate MCHC in Hindi

एमपीएससी टेस्ट करने की कीमत या प्राइस 150 से ₹200 तक हो सकती है इसके अलावा अलग-अलग जगह पर इस टेस्ट की कीमत अलग ली जा सकती हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: