Soha eye drop (0.1% w/v) आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए, क्या इसके नुकसान भी होते हैं?

Soha Eye Drop सामान्यता आंखों में सभी समस्या के इलाज के लिए उपयोग की जाती है इसे हमेशा डॉक्टर की परामर्श पर ही उपयोग करना चाहिए और डॉक्टर द्वारा बताई गई बूंदों को ही आंखों में डालें ध्यान रखें इस आई ड्रॉप का उपयोग करते वक्त आंखों के लिए किसी अन्य दवाई का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

Soha eye drop in hindi
Soha eye drop in hindi

Buy Now

सोहा 0.1% आई ड्रॉप को खरीदने से पहले सुनिश्चित करें कि इसकी बोतल का ढक्कन सील बंद हो अगर इसकी सील टूटी हुई हो तो यह आपकी आंखों के लिए सुरक्षित दवा नहीं होगी। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि इस दवाई को आंखों में डालने से पहले अपने हाथ धो लें ताकि आपकी आंखों में किसी भी तरह का संक्रमण होने की संभावना ना रहे।

>> सेब के छिलके आंखों के लिए भी होते हैं लाभकारी ऐसे…

हालांकि इसे आमतौर पर दुष्प्रभाव रहित आंखों की दवाई माना गया है डॉक्टर भी इसे सुरक्षित बताते हैं लेकिन कुछ लोगों को इसके उपयोग से आंखों में जलन का अनुभव हो सकता है यदि आपकी आंखों में Soha Eye Drop के इस्तेमाल से जलन होती है तो इस बारे में अपने डॉक्टर से बात करें और सही उपचार का पालन करें।

सोहा आई ड्रॉप के उपयोग – Soha Eye Drop Uses In Hindi

इस आई ड्रॉप को निम्नलिखित आंखों की समस्यायों के इलाज के लिए उपयोग‌ कर सकते हैं –

• आँखों में दर्द और जलन का उपचार।

• हल्की या गंभीर सूखी आंखें।

• ऑपरेशन के बाद सूखी आंखें।

• कॉर्निया जल जाने की स्थिति में।

• आंखों में पीलापन।

>> Niacinamide serum के फायदे और नुकसान इस्तेमाल करने का सही तरीका भी जानें

सोहा आई ड्रॉप के फायदे – Soha Eye Drop Benefits In Hindi

इसके निम्नलिखित फायदे मिलते हैं –

• सूखी आँखों का उपचार करने में मदद मिलेगी।

• इसके उपयोग से आंखें साफ हो जाती हैं।

• यह आंखों में से धूल और अन्य कणों को हटाने में मदद करने के लिए पर्याप्त प्राकृतिक आंसू पैदा करती हैं।

• सोहा 0. 1% आई ड्रॉप आपकी आंखों को लुब्रिकेटेड रखता है।

• इस आई ड्रॉप का उपयोग करने की आंखों में जाएंगे और दर्द होने की शिकायत नहीं होती।

• इसके उपयोग से आंखों में दर्द की शिकायत नहीं रहती।

Related posts

सोहा आई ड्रॉप के नुकसान – Soha Eye Drop Side effects In Hindi

Soha eye drop के उपयोग से होने वाले ज्यादातर दुष्प्रभावों के लिए चिकित्सीय देखभाल की आवश्यकता नहीं होती, और यदि आपको इस आई ड्रॉप को यूज़ करने से दुष्प्रभाव होता है तो वह भी जल्दी ठीक हो जाता हैं।

लेकिन यदि इसके नुकसान लंबे समय तक बने रहें तो यह चिंता का विषय हो सकता है इसके लिए आपको डॉक्टर से परामर्श लेने की जरूरत होगी।

सामान्य दुष्प्रभाव

• धुंधला दिखना।

• आंखों का लाल हो जाना।

• आंखों में बेचैनी और जलन रहना।

• आंखों का पीलापन।

• पलकों में सूजन।

• आंखों में पानी आना।

• पलकों का मटमैला या चिपचिपा होना।

>> Period pain relief patches – दिलाएं पीरियड के दर्द से तुरंत राहत

गंभीर दुष्प्रभाव

यदि आपको निम्नलिखित में से किसी भी दुष्प्रभाव का अनुभव हो तो सोहा 0.1% आई ड्रॉप्स का उपयोग बंद कर दें और तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें:

• आंखों में ज्यादा जलन होना।

• आंखों में फटने या खुजली की अनुभूति होना।

• तेज दर्द की शिकायत होने पर।

• आखों में लम्बे समय तक बैचेनी रहना।

साइड इफेक्ट्स का प्रबंधन कैसे करें?

Soha eye drop को आंखों में डालने के बाद कुछ समय के लिए आप अपनी आंखें बंद करके रखें और आराम से सीधे लेते रहे इस दौरान आंखों को रगड़ना नहीं है इस तरह सावधानी से सोहा आई ड्रॉप का उपयोग करने से दुष्प्रभाव होने की संभावना कम रहती है।

लेकिन यदि फिर भी आपको आई ड्रॉप के उपयोग से हुए नुकसान में सुधार नजर नहीं आता तो डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

सोहा आई ड्रॉप कैसे उपयोग करें – How to use Soha Eye Drop In Hindi

सबसे पहले तो आपको यह ध्यान रखना है कि यह Eye drop केवल बाहरी उपयोग के लिए इसे मुंह से नहीं लेना चाहिए।

Soha o.1% Eye Drop को उपयोग करने के लिए आपको डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए क्योंकि डॉक्टर द्वारा बताई गई समय अवधि और सही खुराक का पालन करने से आपको इससे मिलने वाले फायदे भी ज्यादा प्राप्त होते हैं और नुकसान नहीं होते।

इसका जब भी आप यूज करें तो ध्यान रखें कि आपके हाथ साफ होने चाहिए यानी आपको आई ड्रॉप डालने से पहले अपने हाथ धो लेने चाहिए।

आई ड्रॉप आंखों में डालने के लिए सबसे पहले अपनी आंखों को खोल ले उसके लिए आप अपनी दोनों उंगलियों को आंखों के ऊपर नीचे रखकर आंखों को बड़ा सा खोल सकते हैं अब आई ड्रॉप की एक या दो बूंद आंखों में पलक के नीचे अंदर की ओर डालें।

यदि आप इस आई ड्रॉप को रोजाना उपयोग कर रहे हैं तो डॉक्टर से जरूर बताएं क्योंकि अक्सर ज्यादातर आई ड्रॉप्स को रोजाना उपयोग करने की तरह नहीं दी जाती।

डॉक्टर हफ्ते में एक से दो बार ही किसी भी प्रकार की आई ड्रॉप्स इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं तो इसीलिए आप इस आई ड्रॉप का इस्तेमाल डॉक्टर से सलाह लेकर ही करें।

सोहा आई ड्रॉप कैसे काम करता है?

सोहा 0.1% आई ड्रॉप एक लुब्रिकेंट है यह आई ड्रॉप आंखों को ड्राई नहीं होने देती नम बनाने में मदद करती है साथ ही जलन और परेशानी से अस्थायी राहत देती है।

>> Wow vitamin c face wash चेहरे के लिए सबसे बेस्ट, जो दे हर वॉश में निखार

चेतावनियाँ :

गर्भावस्था में।

सोहा आई ड्रॉप का उपयोग गर्भावस्था में करने के लिए रिकामेंड नहीं किया जाता स्टडी यह साबित नहीं करती कि सौहा आई ड्रॉप प्रेगनेंसी में महिलाओं के लिए सुरक्षित है।

इसीलिए यदि आप इस आई ड्रॉप को प्रेगनेंसी के दौरान उपयोग करना चाहते हैं तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।

स्तनपान कराने वाली महिला

Soha eye drop को दूध पिलाने वाली महिला के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता क्योंकि यह दूध पर असर डाल सकती है तथा इससे बच्चे की हेल्थ इफेक्ट हो सकती है।

इसीलिए ऐसी स्थिति में भी आपको डॉक्टर से बिना पूछे इस आई ड्रॉप का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

दृष्टि का धुंधला होना।

सोहा आई ड्रॉप का इस्तेमाल करने के बाद आपको ड्राइविंग नहीं करनी चाहिए क्योंकि इसे उपयोग करने से अस्थाई रूप से कुछ समय तक आपको धुंधला दिख सकता है।

प्रदूषण से बचें।

Soha eye drop का इस्तेमाल करते वक्त आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि वातावरण की धूल आपकी आंखों में ना जाए।

साथ ही आपको सफाई का भी ध्यान रखना है कि eye drop के कंटेनर की नोक को किसी भी सतह पर ना छूने दें ताकि वह संक्रमित ना हो।

Check price…

Soha Eye Drop के बारे में सुझाव :

• नैरो एंगल ग्लूकोमा वाले लोगों को इस दवा का उपयोग नहीं करना चाहिए।

• आई ड्रॉप का उपयोग बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए।

• ध्यान रखें यह केवल बाहरी उपयोग के लिए है।

• इसे बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

• दुष्प्रभाव नजर आने पर डॉक्टर से सलाह अवश्य करें।

• अच्छे परिणामों के लिए आपको इस आई ड्रॉप का उपयोग लंबे समय तक करना पड़ सकता है।

• Soha eye drop के कंटेनर को प्रदूषण और दूषित कणों से सुरक्षित रखना चाहिए ताकि आपकी आंखें संक्रमण से बची रहे।

• किसी भी दूसरी आंखों की दवाई को लेने में और सोहा आई drops use करने में कम से कम 10 मिनट का समय अंतराल रखना चाहिए।

Saniya Qureshi is a Health and Beauty writer, senior consultant and health educator with over 5 years of experience.

Leave a Reply