क्या गर्भाशय का खिसकना ठीक हो सकता है? अगर हां तो कैसे? (Gynetologist से जानें)

Doctor shushila: अगर आपको लगता है कि आपका गर्भाशय या बच्चेदानी खिसक कर अपनी जगह से नीचे आ गया है या आपको बच्चेदानी नीचे की तरफ महसूस होती है तो इसका मतलब है कि आपको Prolapse की समस्या हो गई है।

अब आपके दिमाग में यह सवाल आ रहा होगा की बच्चेदानी खिसकने के बाद क्या इसे वापस अपनी जगह पर लाया जा सकता है या फिर इसे निकालना ही पड़ेगा। और अगर इसे वापस इसकी जगह पर ले जाया जा सकता है तो उसके लिए कौन से ट्रीटमेंट किए जा सकते हैं और किस तरह से?

Generally ज्यादातर डॉक्टर यही सलाह देते हैं कि अगर आपकी बच्चेदानी है बाहर आ गई है या अपनी जगह से खिसक गई है तो उसे निकालना ही पड़ेगा, लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि कि इसका इलाज उपलब्ध है प्रोलेप्स की सर्जरी की जा सकती है जिसके माध्यम से बच्चेदानी को वापस उसकी जगह पर फिक्स किया जाता है।

क्या गर्भाशय का खिसकना ठीक हो सकता है?

क्या गर्भाशय का खिसकना ठीक हो सकता है? अगर हां तो कैसे?
क्या गर्भाशय का खिसकना ठीक हो सकता है? अगर हां तो कैसे? (Gynetologist से जानें)

इसका मतलब है कि आप अपने गर्भाशय को दोबारा उसकी जगह पर ले जा सकती हैं इसके लिए कई तरह की सर्जरी होती हैं अलग-अलग सर्जरी से इसका इलाज किया जा सकता है। व्यक्ति के स्वास्थ्य और बच्चेदानी की स्थिति के अनुसार ही सही सर्जरी आपके लिए क्या होगी? इसका निर्धारण होता है।

लेकिन आजकल यह एक Myth बन गया है कि अगर बच्चेदानी खिसक गई है तो उसे वापस नहीं लाया जा सकता, उसे निकालना ही पड़ेगा। जबकि अधिकतर मामलों में इस समस्या को ठीक किया जा सकता है बच्चेदानी वापस अपनी जगह पर fix हो सकती है जिसके लिए एक जाली का इस्तेमाल करके सर्जरी की जाती है।

बच्चेदानी का साइज नॉरमल कैसे होगा?

जब बच्चेदानी अपनी जगह से खिसक कर नीचे की तरफ आ जाती है तो उसमें सूजन आने लगती है उसका साइज बढ़ जाता है तो ऐसे में कुछ महिलाओं का सवाल यह होता है कि अगर उसे वापस फिक्स कर दिया जाता है तो उसका साइज manage हो जाएगा? तो इसका भी उत्तर होगा हां है, गर्भाशय का साइज वापस नॉर्मल हो सकता है।

जब बच्चेदानी की सर्जरी हो जाती है, उसके बाद इसका Size भी normal हो जाता है उसमें जो भी घाव लगे होते हैं या फिर बच्चेदानी में सूखापन आ जाता है वह भी खुद ठीक हो जाता है इसका मतलब है कि गर्भाशय वापस नॉर्मल साइज़ का हो जाता है।

>> बच्चेदानी निकालने के बाद ब्लीडिंग क्यों होती है?

>> khushi mt kit tablet महिलाओं में गर्भपात के लिए एक प्रभावी उपाय

दूरबीन ऑपरेशन से होती है सर्जरी

आजकल ऐसी Technique आ गई है जिसके माध्यम से दूरबीन ऑपरेशन करके गर्भाशय को उसकी जगह पर दोबारा फिक्स करा जाता है इस तकनीक में एक जाली को उपयोग करके वापस fix करते हैं।

जिसमें बच्चेदानी को उसकी जगह पर रखकर उसके ऊपर जाली लगा दी जाती है और जाली को आसपास की हड्डियों में जोड़ दिया जाता है जिससे गर्भाशय अपनी जगह पर जमा रहे। और इस तरह कुछ दिनों में यह अपनी नॉर्मल जगह पर आ जाता है और उसके बाद महिलाएं दोबारा से प्रेगनेंसी प्लान कर सकती हैं।

बच्चेदानी की सर्जरी होने के बाद Normal Delivery हो सकती है क्या?

आमतौर पर अगर बच्चेदानी खिसकने के बाद उसकी सर्जरी करके उसे वापस उसकी जगह पर लाया जाता है तो डॉक्टर महिलाओं को प्रेगनेंसी के अंत में डिलीवरी के विकल्प में नॉर्मल डिलीवरी की सलाह नहीं देते।

बल्कि sizerien की advice दी जाती है। हालांकि नॉर्मल डिलीवरी भी इसके बाद की जा सकती है यानी नॉर्मल डिलीवरी होने में बहुत बड़ी प्रॉब्लम नहीं होती, लेकिन अधिकतर मामलों में इसको suggest नहीं किया जाता।

सर्जरी के विकल्प: Laparoscopic pectopexy, Laparoscopic cecopexy.

इन सर्जरी के success rate 96 तो 98% है इसकी सक्सेस रेट बहुत अच्छी है ज्यादातर मामलों में महिलाएं बिल्कुल ठीक हो जाती है दोबारा से प्रेगनेंसी को धारण कर सकती हैं तथा नॉर्मल डिलीवरी भी plan कर सकती हैं।

यह सर्जरी दूरबीन के माध्यम से होती हैं खुला ऑपरेशन करने की जरूरत नहीं होती। एक दिन में ही अस्पताल में यह इलाज हो जाता है और आपको इलाज के बाद तुरंत छुट्टी भी मिल जाती है यानी हॉस्पिटल में रहने की जरूरत नहीं होती।

साथ ही यह सर्जरी करवाने के बाद डॉक्टर आपको किसी भी तरह का परहेज नहीं बताते, 2 दिन आराम करने के बाद आप अपने रोजमर्रा के काम कर सकती हैं। जो भी काम आप अपनी lifestyle में करती है वह सब कर सकती हैं किसी भी चीज के लिए मना नहीं किया जाता।

ना ही आपको खाने के लिए किसी चीज का परहेज करने की सलाह दी जाती है आप अपना नॉर्मल वही खाना खा सकती हैं।जो आप डेली बेसिस पर खाती हैं आपको खिचड़ी दलिया जैसी चीजों को नहीं खाना पड़ेगा, आप जो नॉर्मल मसाले वाला खाना अपने घर पर खाती हैं वही खा सकती हैं इसमें किसी तरह का परहेज नहीं बताया जाता।

डॉक्टर sushila कहती हैं कि बच्चेदानी अगर खिसक जाती है और उसमें किसी भी तरह का इन्फेक्शन नहीं है कोई बीमारी नहीं है तो जरूरी नहीं है कि उसे निकाला ही जाए, उसे बचाया जा सकता है और फिर से फिक्स किया जा सकता है।

Saniya Qureshi is a Health and Beauty writer, senior consultant and health educator with over 5 years of experience.

Leave a Reply