Satritha Shampoo बालों के लिए अच्छा है या बुरा (फायदे, नुकसान, प्रकार, उपयोग) + मेरा अनुभव

Satritha Shampoo एक पुराना आयुर्वेदिक उत्पाद है जो बालों को बढ़ाने मजबूत बनाने और टूटने से रोकने में मदद करता है इसके उपयोग से बालों की सेहत बेहतर होती है इससे बाल हेल्दी बने रहते हैं।

Satritha shampoo
Satritha shampoo in hindi

सतरीठा शैंपू कैसा है?

सतरीठा शैंपू बालों को स्वस्थ रखने में सहायक है इसके उपयोग से बालों में मजबूती आती है और बालों का झड़ना कम हो जाता है। यह बालों को लंबा और मोटा बनाता है।

पढ़ें | Mediker shampoo के बालों के लिए लाभकारी प्रभाव।

सतरीठा शैंपू के प्रकार

सतरीठा शैंपू तीन तरह के मार्केट में उपलब्ध है।

1. दैनाजी सतरीठा शैंपू।

2. मेघदूत सतरीठा शैंपू।

3. खादी हर्बल सतरीठा शैंपू।

यह तीनों ही शैंपू प्राकृतिक अच्छाईयों से संपन्न है और बालों को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

बेस्ट सतरीठा शैंपू कौन सा है? (Best SATRITHA SHAMPOO in hindi)

सतरीठा के कई तरह के शैंपू आतें हैं जिनमें ज्यादा फर्क भी नहीं है इन्हें अलग बनाने का उद्देश्य है कि यह हर किसी के बालों पर यह शैंपू सूटेबल रहें।

मुझे इसका दैनाजी शैंपू अच्छा लगता है क्योंकि इस शैंपू से मेरे बालों के लिए अच्छे रिजल्ट मिलें हैं।

सतीठा (Satritha shampoo) शैंपू की कीमत Amazon पर जांचें।

सतरीथा शैम्पू बालों के लिए कैसे अच्छा है?

सतरीठा शैंपू बालों के लिए काफी अच्छा है क्योंकि यह नेचुरल सामग्री से बनता है जिससे यह शैंपू ज्यादा बेहतर है।

यह शैंपू बालों को लंबा बनाने में बहुत मदद करता है इसके अलावा इसके उपयोग से बालों का टेक्सचर भी सुधरता है।

बालों में सतरीठा कैसे लगाएं? (SATRITHA SHAMPOO how to use)

सतरीठा शैंपू का उपयोग करने का तरीका यह है।

• Satiretha Shampoo का प्रयोग करने से पहले अपने बालों में कम से कम 2 घंटे पहले तेल लगा लें उसके बाद ही शैंपू करें।

• क्योंकि यदि आप सूखे बालों में शैंपू का प्रयोग करेंगे तो बालों की नमी धीरे-धीरे खत्म हो जाती है इसलिए किसी भी प्रकार का शैंपू उपयोग करने से पहले बालों में तेल जरूर लगाएं।

• Satritha Shampoo इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले बालों को पानी से साफ कर लें ताकि एक्स्ट्रा तेल पानी से साफ हो जाए।

• उसके बाद शैंपू को एक मग में इतनी मात्रा में घोलें जितना आप उपयोग करना चाहते हैं।

• डायरेक्ट शैंपू को स्कैल्प पर उपयोग नहीं करना है पहले मग में घोलकर झाग बनाएं उसके बाद बालों में अप्लाई करें।

• इस तरह शैंपू भी कम उपयोग होता है और ज्यादा लाभ प्राप्त होते हैं।

• शैंपू बालों में डालने के बाद हल्के हाथों से 2 से 3 मिनट के लिए मसाज करें मसाज करने के लिए नाखूनों का प्रयोग ना करें।

• उसके बाद पानी से बालों को धो लें शैंपू का उपयोग केवल एक बार करें कुछ लोग शैंपू को दो बार बालों में इस्तेमाल करते हैं जिससे उनके बालों में कमजोरी आ जाती है।

• उसके बाद बालों में कंडीशनर लगाएं इस तरह आप सतरीठा शैंपू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पढ़ें | सर्दियों में बालों को स्वस्थ बनाए रखने के घरेलू उपाय ‌

सतरीठा शैंपू की सामग्री (SATREETHA SHAMPOO ingredients)

सतरीठा शैंपू की मुख्य सामग्री –

• रीठा।

• आंवला।

• शिकाकाई ।

• हिना।

• नीम।

इसमें मिली सामग्री प्राकृतिक है यह अनोखे तरीके से बालों की देखभाल करने में बहुत प्रभावी और शानदार हैं यह सभी सामग्री बिना दुष्प्रभाव के बालों की ग्रोथ में मदद करते हैं।

Satritha Shampoo ingredients
Satritha shampoo in hindi

सतरीठा शैंपू लगाने से क्या होता है? (SATRITHA SHAMPOO kaisa hai)

सतरीठा शैंपू का उपयोग करने से बालों में चमक बढ़ती है बाल घने होते हैं क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक को और पुराना प्रोडक्ट है तो इसमें नेचुरल सामग्री की अच्छाई ज्यादा मिलाई गई है।

जो इसे बालों के लिए बेहतर साबित करता है इसके उपयोग से बालों का स्वास्थ्य सुधरता है व बालों से जुड़ी समस्या धीरे-धीरे कम हो जाती हैं।

क्या सतीथा शैम्पू बालों के लिए अच्छा है? (Is SATREETHA SHAMPOO good for hair)

हां, सतरीठा शैंपू बालों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है इसके उपयोग से बालों की बहुत सी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

सतरीठा शैंपू के फायदे (SATREETHA SHAMPOO ke fayde in Hindi)

यदि आपके बालों को Satiretha Shampoo सूट आ जाए तो इस शैंपू के निम्नलिखित फायदे मिलते हैं।

Satritha shampoo benefits
Satritha shampoo in hindi

• बालों का टूटना बंद हो जाता है।

• बाल लंबे होते हैं।

• दो मुंहे बालों की समस्या कम हो जाती है।

• बालों में डैंड्रफ की समस्या नहीं होती।

• स्कैल्प में संक्रमण नहीं होता।

• बालों में चमक आती हैं।

• बाल घने होते हैं।

• यह बालों को मुलायम बनाता है।

• बालों का टेक्सचर में सुधार करता है।

• यह सभी प्रकार के बालों के लिए 100% हाइपोएलर्जेनिक है।

• सभी के लिए सूटेबल है।

• किफायती है।

सतरीठा शैंपू के नुकसान (SATREETHA SHAMPOO ke nuksan)

सतरीठा शैंपू से बालों के लिए साइड इफेक्ट्स देखने को नहीं मिले हैं यह बालों की बिना नुकसान के देखभाल करता है।

लेकिन यदि आप इसे गलत तरीके से इस्तेमाल करते हैं या ज्यादा मात्रा में उपयोग करते हैं तो निम्नलिखित समस्या हो सकती हैं।

• स्कैल्प में सूजन।

• रूसी की समस्या।

• बाल सफेद हो सकते हैं।

• रूखापन।

• बाल टूटना।

अधिक मात्रा में इस शैंपू को इस्तेमाल करने से उपरोक्त समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि किसी भी तरह का शैंपू ज्यादा उपयोग करने से बालों को नुकसान पहुंचाता है। ‌‌

इसलिए सीमित मात्रा में ही शैंपू का उपयोग करें इसे हफ्ते में दो बार ही प्रयोग करना चाहिए उससे अधिक नहीं।

पढ़ें | प्राकृतिक तरीके से बालों का झड़ना कैसे रोकें

सतरीठा शैंपू लगाने से क्या होता है?

यदि आप सतरीठा शैंपू को नियमित रूप से दो महीने उपयोग करते हैं तो यह शैंपू बालों से जुड़ी सभी तरह की समस्याओं को दूर करना शुरू कर देता है।

हालांकि इसका बेहतर रिजल्ट 4 महीने लगातार उपयोग करने पर ही देखने को मिलता है।

क्या सतरीठा से बाल झड़ते हैं?

नहीं, इस शैंपू को लगाने से बालों नहीं टूटते। पर यदि यह आपके बालों के लिए सूटेबल न हो तो इससे बाल झड़ सकते हैं लेकिन ऐसी बहुत कम संभावना है।

Satritha Shampoo के साथ मेरा अनुभव।

सतरीठा के तीनों शैंपू को मैने खुद आजमाएं हैं जिसमें मुझे दैनाजी सतरीठा शैंपू से ज्यादा अच्छे परिणाम मेरे बालों के लिए देखने को मिले हैं।

इसलिए मैं दैनाजी सतरीठा शैंपू को पिछले एक साल से अपने बालों की केयर के लिए उपयोग कर रही हूं।

इससे पहले भी मैंने कई तरह के शैंपू इस्तेमाल किए हैं लेकिन इस शैंपू से मुझे सबसे बेहतर रिजल्ट मिलें हैं।

इसके उपयोग से 15 दिन में ही मेरे बालों में झड़ने की दर कम हो गई और इससे मेरे बाल लंबे चमकदार और मजबूत बने हैं।

Satritha Shampoo के लिए ध्यान रखें ये बातें:

अगर आप इन चंद बातों को ध्यान में रखकर इस शैंपू को इस्तेमाल करते हैं तो निश्चित रूप से इससे आपको फायदे मिलेंगे। जैसे –

>> शैंपू को उपयोग करने से पहले चिकित्सक से सलाह लें।

>> इसे ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल न करें।

>> यह केवल बाहरी उपयोग के लिए है।

>> इसे बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

>> सूखे बालों में शैंपू को न लगाएं।

>> हफ्ते में दो बार ही शैंपू प्रयोग करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: