ayur shampoo ke fayde aur nuksan (किफायती और सस्ता शैम्पू)

आज हम बात कर रहे हैं Ayur Shampoo के बारे में जो की एक बजट फ्रेंडली और सस्ता प्रोडक्ट है यह बालों के लिए बहुत अच्छा काम करता है इसके सिर्फ एक महीने के उपयोग से बालों की ग्रोथ बढ़ने लगती है स्पेशली नॉर्मल हेयर वाले लोगों के लिए यह बेहद पसंद आने वाला शैंपू साबित होता है।

यह शैंपू बालों को हेल्दी और चमकदार बनाता है इसका 500gm का पैक ₹150 में, और 1 लीटर की बोतल ₹230 में मार्केट में उपलब्ध है जो कि 6 महीने तक बालों की देखभाल के लिए काफी है उससे पहले Ayur shampoo के फायदे नुकसान यह कैसे काम करता है इस बारे में पढ़ने के लिए नीचे स्क्रॉल करें।

Table of Contents

ayur shampoo kaisa hai?

यह आंवला, रीठा, शिकाकाई और ऐसी ही हेयर ग्रोथ करने वाली कई जड़ी बूटियों से बना शैंपू है जो नेचरली बालों की देखभाल करता है इससे बालों की ग्रोथ दोगुनी हो सकती है इसके मार्केट में छोटे-छोटे पैक भी उपलब्ध है लेकिन इसका बड़ा पैक सस्ता पड़ता है अगर आप इसे ट्राई करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं तो छोटा पैक ही खरीदें

A woman showing the results of ayur shampoo
Ayur shampoo ke fayde aur nuksan

और अगर छोटे पैक से आपको अपने मन मुताबिक रिजल्ट मिलेंगे तभी इसका बड़ा पैक खरीदकर अपने बालों की देखभाल के लिए इसे इस्तेमाल करना जारी रख सकते हैं।

इसके क्या उपयोग हो सकते हैं? (Ayur shampoo uses in Hindi)

यह शैंपू दावा करता है कि यह आपके बालों की जड़ों को मजबूत बनाएगा, बालों को सफेद होने से रोकेगा, बालों की ग्रोथ को बढ़ाएगा और डैंड्रफ को कंट्रोल करेगा इसके अलावा भी शैंपू बहुत तरह के दावे करता है लेकिन यह दावे पूरी तरह से झूठे नहीं हैं मेरी cousin ने भी इसको यूज़ किया है और वह अभी भी इसका यूज़ कर रही हैं और उन्हें इससे बहुत अच्छे रिजल्ट मिले हैं।

फिर मैंने भी इसे अपने बालों पर ट्राई किया, यूज़ करने के बाद मुझे इसका वह रिजल्ट नहीं मिला जो उन्हें मिल रहा था। इसका मतलब यह है कि इसका प्रभाव हर किसी के लिए अलग हो सकता है किसी को इसका बहुत अच्छा फायदा मिलेगा तो किसी को यह नुकसान भी कर सकता है।

Sunsilk pink Shampoo Ke Fayde aur nuksan (सनसिल्क पिंक शैम्पू रिव्यु)

आयुर शैंपू के फायदे (ayur shampoo ke fayde)

इसमें मिली तीनों सामग्री आंवला, रीठा, शिकाकाई बालों के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होती हैं इसलिए यह शैंपू बालों को कई तरह के फायदे दे सकता है जिसमें कुछ फायदे यह हैं:

डैंड्रफ को कंट्रोल करता है:

आयुर शैंपू डैंड्रफ को बहुत अच्छी तरह से कंट्रोल कर सकता है अगर आपको डेंड्रफ की प्रॉब्लम है तो आप इस शैंपू को इस्तेमाल कर सकते हैं यह खुश्की को काफी हद तक कम करने में सहयोग देता है।

बालों के जड़ों को मजबूत बनाता है:

अगर यह शैंपू आपके बालों पर सूट आ जाता है तो इसका उपयोग करने से आपके बालों की जड़े मजबूत होने लगती हैं, जिससे बालों का झड़ना काफी हद तक काम हो जाएगा। और बाल पहले से ज्यादा हेल्दी लगेंगे।

यह बालों के pH को नियंत्रित करता है:

Ayur Shampoo बालों के पीएच को नियंत्रित करने का दावा भी करता है इसकी बोतल पर यह साफ लिखा होता है कि यह बालों के pH को बरकरार रखेगा और बालों को खराब होने से बचाएगा।

सफेद बालों की समस्यां को कम करता है:

कुछ लोगों को सफेद बाल होने की समस्या उम्र से पहले ही होने लगती है तो ऐसी समस्या के लिए भी यह शैंपू मदद कर सकता है क्योंकि इसमें रीठा, आंवला, शिकाकाई मौजूद है यह तीनों सामग्री बालों को काला रखने के लिए बहुत उपयोगी होती हैं।

बालों में चमक प्रदान करता है:

जिन लोगों को यह शैंपू पसंद आ जाता है और उनके बालों के लिए अच्छा प्रभाव देता है उनके बालों को यह चमक भी देता है कुछ दिनों की उपयोग से बोल पहले से ज्यादा चमकदार दिखने लगते हैं।

बालों की ग्रोथ को बढ़ाता है:

जब आपके बालों में मजबूती आ जाती है बाल टूटना कम हो जाते हैं तो ऐसे में बालों की ग्रोथ बढ़ जाती है और बाल तेजी से लंबे होने लगते हैं तो इससे आपके बाल लंबे भी होंगे और बहुत जल्दी आपको रिजल्ट मिलेगा, लेकिन ऐसा केवल तब होगा यदि यह आपके बालों पर सूट आ जाए।

घना और मोटा बनाता है:

कुछ लोगों के बाल लंबे तो होते हैं लेकिन मोटे नहीं होते हैं जो उनकी यह एक प्रॉब्लम बनकर रह जाती है और लंबे बाल होने के बावजूद उनके बाल खूबसूरत नहीं लगते, तो ऐसी समस्या के लिए भी अयुर शैंपू मदद करता है यह शैंपू बालों को घना और मोटा बना सकता है।

बालों की बनावट को सुधारता है:

इस शैंपू का उपयोग करने से बालों की बनावट में भी सुधार होता है जिन लोगों के बालों पर यह अच्छा असर दिखाता है उनके बाल पहले से बेहतर हो जाते हैं।

सस्ता और किफायती प्रोडक्ट है:

Ayur shampoo एक सस्ता और किफायती प्रोडक्ट है इसे आप आसानी से किसी भी मार्केट से बहुत कम दामों पर खरीद सकते हैं इसके छोटे पैकेट भी आते हैं और बड़ा पैक भी काफी कम दामों पर मिल जाता है।

पैराबैन और सल्फेट फ्री:

इस शैंपू में पैराबिन और सल्फेट नहीं होता, यह केमिकल फ्री शैंपू है तो अगर यह आपके बालों पर सूटेबल होगा आपको अच्छे रिजल्ट देगा। तो यह शैंपू आपको बिना नुकसान पहुंचाएं लाभ प्रदान करने में मदद करता है।

आयुर शैंपू के नुकसान (ayur shampoo ke nuksan)

वैसे तो यह आयुर्वेदिक सामग्री से तैयार किया गया शैंपू है इसमें वह सभी चीज मिलाई गई हैं जो की बालों को स्वस्थ बनाती हैं सफेद होने से रोकती हैं और मजबूत व लंबा बनती है लेकिन फिर भी इसके कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं:

यह बालों को सोफ्ट और मुलायम नहीं बनाता:

हम अपने शैंपू से बालों में सॉफ्टनेस की उम्मीद रखते हैं और इसीलिए एक से दूसरा और दूसरे से तीसरा शैंपू ट्राई करते रहते हैं लेकिन अगर आप बालों को मुलायम रखने के लिए शैंपू चाहते हैं तो यह शैंपू आपके लिए नहीं है क्योंकि यह बालों को सॉफ्ट और मुलायम नहीं बनाता।

यह सिर्फ नोर्मल हेयर के लिए बनाया गया है:

इस शैंपू के पैकेट पर आप देखेंगे कि यह जिनके बालों का प्रकार नॉर्मल होता है उनके लिए विशेष रूप से बनाया गया है, तो उनके बालों पर यह अच्छी तरह से work करता है लेकिन दूसरे टाइप के बालों के लिए यह किस तरह का असर दिखाएगा यह स्पष्ट नहीं है।

यह बालों को ड्राई करता है:

यह शैंपू बालों को ड्राई करता है तो अगर आप शैंपू को करने से पहले अपने बालों में ऑयलिंग नहीं करते और शैंपू को करने के बाद कंडीशनर नहीं लगाते तो बालों में बहुत ज्यादा ड्राइनेस दिखने लगेगी बाल झाड़ू जैसे हो जाएंगे।

इसके साथ कंडीशनर इस्तेमाल करना जरूरी होता है:

इस शैंपू के साथ आपको कंडीशनर यूज़ करना बहुत जरूरी है क्योंकि इसका उपयोग करने के बाद आपके बाल बहुत ज्यादा रूखे और बेजान दिख सकते है ऐसे में कंडीशनर इस्तेमाल करना महत्वपूर्ण हो जाता है तभी आपके बाल स्वस्थ रह सकते हैं।

ड्राई हेयर्स के लिए यह अच्छा नहीं है:

अगर आपके हेयर्स ड्राई रहते हैं आपके बाल इसी तरह के हैं कि वह हमेशा रूखें और बेजान लगते हैं तो आपको यह शैंपू इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकी ड्राई बालों के लिए यह शैंपू अच्छा नहीं है।

अयुर शैंपू कैसे इस्तेमाल करें (Ayur shampoo how to use in hindi)

आयुर शैंपू को इस्तेमाल करने का तरीका भी ऐसा ही है जैसे आप किसी भी अन्य शैंपू का इस्तेमाल करते हैं:

शैंपू को हफ्ते में दो बार या ज्यादा से ज्यादा तीन बार करने की सलाह दी जाती है लेकिन इस शैंपू के साथ आपको बहुत सावधानी रखनी पड़ती है इसे हफ्ते में केवल एक से दो बार ही इस्तेमाल करें उससे ज्यादा उपयोग करने पर यह बालों की ड्राइनेस बढ़ा सकता है।

इसे उपयोग करने से पहले अपने बालों में तेल लगाना जरूरी है तो अच्छे से पूरे बालों में ऑयलिंग कर लें उसके बाद शैंपू करने के लिए,

सबसे पहले अपने बालों को गीला करें और शैंपू को डायरेक्ट अपने स्कैल्प पर ना लगा कर थोड़े से पानी में घोलकर बालों में लगाएं। केवल अयुर ही नहीं, बल्कि किसी भी तरह के शैंपू को डायरेक्ट बालों में न लगाकर पानी में घोलकर अप्लाई करना चाहिए।

ऐसा करने से शैंपू से झाग ज्यादा बनते हैं और कम शैंपू में आपको ज्यादा इफेक्टिव रिजल्ट मिलते हैं साथ ही जो केमिकल शैंपू में मिले होते हैं उनका असर आपके बालों पर बहुत ज्यादा नहीं पड़ता।

बालों में शैंपू लगाने के बाद हल्के हाथों से 2 मिनट के लिए मसाज करें, मसाज करने के लिए नाखूनों का प्रयोग करने से बचना चाहिए और उसके बाद नार्मल पानी से अपने बालों को अच्छे से वॉश कर लें।

बालों को बहुत अच्छे से धोना चाहिए ताकि पूरी तरह से शैंपू आपके बालों से निकल जाए उसके बाद कंडीशनर करें।

इस तरह से इस शैंपू को हफ्ते में 2 बार इस्तेमाल करने से आपके बालों में अच्छे रिजल्ट देखने को मिल सकते हैं लेकिन इसके अच्छे परिणाम एक या दो बार के उपयोग से नहीं देखेंगे।

आपको पूरे 1 महीने तक इसे इस्तेमाल करना पड़ेगा, तभी इसके सही रिजल्ट देखने को मिलेंगे। आप देख पाएंगे कि यह आपके बालों के लिए अच्छा है या बुरा आपको किस तरह के परिणाम दे रहा है।

क्या अयूर शैंपू आपको सूट करेगा?

यह शैंपू आपको सूट करेगा या नहीं, यह आपके स्कैल्प पर निर्भर करता है आपके बालों का प्रकार क्या है आपके पास किस तरह के प्रोडक्ट को accept करते हैं इसी से यह तय हो पाएगा, कि Ayur Shampoo आपके लिए कितना अच्छा होगा और कितना खराब, उसके लिए इसे एक महीने तक लगातार यूज़ करके देखें।

यह किसे सूट नहीं करता है?

Ayur Shampoo उन लोगों के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है जो अपने बालों पर डाई, कलरिंग कराते रहते हैं या जो बालों को बार-बार स्ट्रेट करवाते हैं उनके बालों पर यह बिल्कुल भी अच्छा वर्क नहीं करता है।

जैसे कुछ लोगों को शौक होता है बार-बार पार्लर में जाकर बालों पर तरह-तरह के एक्सपेरिमेंट करवाना बालों को कलर करवाना या हेयर स्पा करवाना।

उनको इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए लेकिन हां जो लोग घर पर नॉर्मल मेहंदी लगाकर बालों को रखते हैं वह शैंपू का इस्तेमाल कर सकते हैं उनके लिए यह शैंपू अच्छा साबित हो सकता है।

इसका रिजल्ट कितने दिन में मिलेगा?

शैंपू का रिजल्ट कितने दिन में मिलेगा यह हर किसी के लिए अलग हो सकता है लेकिन आपको इसे लगातार एक महीना इस्तेमाल करके देखना पड़ेगा तभी आपको पता चलेगा, कि यह आपके लिए कैसा है।

अगर 1 महीने में इससे आपके बाल को मजबूत बनते हैं उनका टूटना कम होता है तो आप इसे continue कर सकते हैं अपने बाल की देखभाल के लिए इसे इस्तेमाल करना जारी रख सकते हैं।

लेकिन अगर यह बालों को और ज्यादा तोड़ता है ड्राई करता है समस्याओं को बढ़ाने का कारण बनता है और अच्छा रिजल्ट नहीं दिखाता, तब आपको इसे उपयोग करना बंद कर देना चाहिए।

आयुर हर्बल शैंपू की सामग्री (Ayur shampoo ingredients)

सामग्री – एक्वा, सोडियम लॉरेथ सल्फेट, कोकोमोनोएथेनॉलमाइड, कोकोबेटन, आंवला (एम्बेलिका ऑफिसिनालिस) अर्क, शिकाकाई (बबूल कॉन्सिना) अर्क, रीठा (सैपिंडस मुकोरोसी) अर्क, प्रोपलीन ग्लाइकोल, ईडीटीए, फेनोक्सीथेनॉल, मिथाइल पैराबेन, प्रोपाइल पैराबेन, इमिडाज़ोलिडिनिल यूरिया, रंग, सुगंध।

Ayur shampoo में मुख्य रूप से तीन सामग्री मिलाई गई है जो नेचुरल तरीके से बालों की हेल्थ को बरकरार रखने में मदद करती है:

आंवला: आंवला एक ऐसा इनग्रीडिएंट है जो विटामिन सी से भरपूर होता है इसमें विटामिन सी बहुत अच्छी मात्रा में पाया जाता है और विटामिन सी बालों की हेल्थ को बेहतर बनाने बालों को मजबूत रखने के लिए महत्वपूर्ण योगदान देता है।

शिकाकाई: पुराने समय से ही शिकाकाई को बालों की देखभाल के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है यह बालों को लंबा घना और कला बनाने के लिए सहायता करता है सभी आयुर्वेदिक शैंपू में शिकाकाई का उपयोग किया जाता है।

रीठा: रीठा भी एक आयुर्वेदिक सामग्री है जो बालों को सेहतमंद रखने में मदद करता है इसका इस्तेमाल बालों की मजबूती बढ़ाने सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने और नेचुरल तरीके से बालों पर चमक बढ़ाने के लिए किया जाता है।

यह तीनों ही सामग्री बालों के स्वास्थ्य को बढ़ाने उन्हें काला रखने, मजबूत बनाने और लंबा करने के लिए मदद करती हैं इसीलिए आयुर्वेदिक शैंपू को तैयार करने में इन्हें शामिल किया जाता है।

Saniya Qureshi is a Health and Beauty writer, senior consultant and health educator with over 5 years of experience.

Leave a Reply